प्याज़ कचौरी

कचौरी राजस्थान के खान-पान का एक अभिन्न अंग है और राजस्थान की जोधपुरी प्याज़ कचौरी विश्व प्रसिद्ध हैं….इसी कचौरी की रेसिपी अशोक जी ने आपके लिए भेजी है. अशोक जी की वॉल पर राजस्थानी और देश भर की देसी रेसीपीस की भरमार है. आप चाहें तो उनके साथ जुड़ कर इन रेसीपीस का आनंद के सकते हैं.

#अशोक_जी_की_पोस्ट

राजस्थानी प्याज की कचौरी आपके साथ भी इसकी रेसिपी शेयर कर रहा हु :-

प्याज की कचौरी :-
मसाले:-
1चम्मच साबुत धनिया
1 चम्मच कसूरी मेथी
1 चम्मच सौंफ
1 चम्मच साबुत जीरा

कचौरी में अंदर भरने के लिये आलू और प्याज की FILLING

2 चम्मच तेल
1 चुटकी हींग
3 कली लहसुन
3 चम्मच बेसन
1 चम्मच लाल मिर्च पावडर या स्वादानुसार
1 चम्मच अमचूर पाउडर
1 चम्मच सफ़ेद नमक
1/2 चम्मच काला नमक
1/2 चम्मच गर्म मसाला
1 प्याज बारीक़ कटी हुई
1प्याज थोड़ी मोटी और लंबाई मे कटी
2 हरि मिर्च लंबाई मे कटी हुई
3 आलू उबले हुय
1 चम्मच चीनी

डो बनाने के लिये :-
मैदा 250 gm
1 चुटकी अजवायन
4 चमच्च तेल(मोयन के लिये )
और फ़्राय करने के लिये तेल

बनाने की विधि :-

सबसे पहले सारे मसालों को (जीरा,धनिया, सौंफ,कसूरी मेथी)को मिक्सी या सिलबट्टे पर दरदरा पीस लेंगे
अब गैस पर एक फ़्राय पैन या कढ़ाई रखते ह.अब उसमे 2 चमच्च तेल डाल देते ह.जैसे ही तेल थोड़ा गर्म होता है हम उसके अंदर पीसे हुए मसाले डाल कर हलका सा भून लेते हैं हैं, अब इसके अंदर एक चुटकी हींग भी डाल देंगे. अब लहसुन भी छोटा छोटा काटकर डाल देंगे.

अब इन्हें थोड़ा सा पका लेंगे थोड़ा सा पकने के बाद इसमें बेसन भी मिला देंगे. बेसन डालना बहुत जरुरी है क्योंकि इससे बाइंडिंग आती ही. और इसके साथ ही बाकी के मसाले भी डाल देंगे( लाल मिर्च काला नमक अमचूर पाउडर और गर्म मसाला) अब इन सब मसालों को अच्छे तरीके से धीमी आंच पर 2 मिनट पका लेंगे, दो-तीन मिनट मसालों को पकाने के बाद इसमें हम बारीक कटी हुई क्या प्याज और हरी मिर्ची और नमक भी ऐड कर देंगे.अब इन सब को प्याज के नरम होने तक थोड़ा और पकाएंगे.

अब इसमें दो उबले हुए आलू हाथ से मैश करके डाल देंगे.और अब इसमे 1 चमच्च चीनी डाल देंगे,चीनी से क्या होता है जो प्याज हमने पकाए थे उनका फ्लेवर आलू के डालने से खत्म हो गया था लेकिन चीनी डालने से प्याज का फ्लेवर उभर कर आता ह.अब चीनी जब पिघल जाये तो गैस को बंद कर देते ह और अब इसमे जो प्याज लंबे काट कर रखे ह उन्हें भी इसी मसाले में मिला लेते हैं. अब इन सबको ठंडा होने के लिये रख देते ह. और अब चलते ह मैदा के पास, मैदा को एक परात में डाल लेते ह और मैदा में एक चुटकी अजवायन मिला देते हैं.

अब इसमे 50 gm तेल मिला देते ह तेल से क्या होता है की कचोरी कुरकुरी बनती ह अगर हम घी मिला देंगे तो कचोरी खास्ता बन जायेगी.अब इन सब को मिला लेंगे और बाद में इसमे थोड़ा थोड़ा पानी मिलाते हुय बिलकुल नर्म आटा लगा लेंगे.अब इस आटे को कपड़े से ढक कर को 30 मिंन्ट के लिये छोड़ देते हैं. अब मसाले के पास चलते हैं वो भी ठंडा हो चूका ह तो मसाले के हम छोटे छोटे निम्बू के आकार के लड्डू की तरह गोले बना लेते ह.अब वापिस मैदा के पास चलते ह और उसके भी छोटे छोटे टुकड़े कर लेते ह जसे की पूरी बेलने के लिये करते हैं.

अब एक पेड़ी मैदा की लेंगे और उसे हाथ से ही पूरी की तरह करते ह,जसे ही तीन चार इंच हो जाता ह तो उसके बीच में (आलू प्याज के मसाले के जो गोले बनाये थे उनमें से एक गोला लेंगे )और उसे रख देंगे फिर कोने बीच में ला करके सील कर दीजिय और बाकी का बचा आटा निकाल दीजिये.

ऐसे ही सारे गोले बना कर तैयार कर लीजिये. अब इन्हे दुबारा से 10 मिंन्ट के लिये कपड़े से ढक कर रख देते हैं. 10 मिंन्ट बाद एक गोला उठाते ह और उसे बिच में से दबा कर हाथ से धीरे धीरे दबाते हुये कचौरी के शेप दे देंगे जसे लोहे का तवा होता ह उस तरह से मतलब बीच में से थोड़ा गहरा और साइड में से थोड़ा ऊपर उठा हुआ इससे क्या होगा की कचौरी अच्छी तरह से फूल जायगी.अब सब को ऐसे ही तैयार करके रख लेते हैं.

अब कढ़ाई में तेल या रिफाइंड चढ़ा देते हैं और अच्छी तरह गर्म करते ह.क्योंकि कचोरी को हम दो बार में फ़्राय करेंगे. जब तेल अच्छे से गर्म हो जाय तो हम इसमे एक एक कचौरी डालेंगे और इसे मात्र 10 सेकिंड के लिये फ़्राय करेंगे इससे क्या होगा की कचौरी के ऊपर एक लेयर बन जायेगी. जिससे कि इसका एस्ट्रेक्चर बहुत बढ़या हो जायेगा. अब ऐसे ही सारी कचौरी को दस दस सेकेंड के लिये फ़्राय कर लेंगे. अब क्या करना है की गैस को करना है बंद और तेल को करना है ठंडा क्यूँकि अगर हम गर्म तेल में ही फ़्राय कर लेंगे तो यह अंदर से कच्ची रह जायँगी और फूलेगी भी नही.

जब तेल कुछ ठंडा हो जाये तो हम इसमे तेल की मात्रा के अनुसार दो या तीन कचौरी डाल देंगे और गैस को धीमी जला देंगे,अब हमें इसे धीमी आंच पर सुनहरी होने तक पकाना है. इसको एक बार पकने में दस या पंद्रह मिनट लगेंगे.इन सब को ऐसे ही गोल्डन कलर होने तक उलटते पलटते हुय पका लेंगे.और थोड़ी ठंडी होने पर चटनी के साथ सर्व करेंगे.

मित्रों….. यह रेसिपी आपको कैसी लगी इसके बारे में आपका फ़ीड्बैक parul.sehgal@swadlist परअवश्य दीजिएगा.

आपका अपना….#पारुल_सहगल_साथी 

%d bloggers like this: