लुधियाना के स्वाद

मैं लुधियाना में पैदा हुआ हूँ और इस शहर की आत्मा मेरी धमनियों में दौड़ती है, यहीं पला बढ़ा हूँ, पूरा बचपन यहाँ की गलियों में बिताया है, यहाँ एक ओर अंग्रेज़ों के बसाए हुए फ़ील्ड गंज, मिलर गंज, सिविल लाइंज़, छावनी मोहल्ला, दरेसी जैसे पुराने मुहल्ले हैं तो दूसरी ओर साउथ सिटी, अगर नगर, BRS नगर जैसे पॉश और नए क्षेत्र हैं.

आज के आधुनिक पंजाब की ऊपरी चमकदार और ठंडी परतों के नीचे वही पुराना देसी घी वाला खुरदुरा, गुनगुना और सुनहरा पंजाब अपने को आज भी दिखता है. यहाँ की तंग हो चुकी सड़कों के किनारे पर कुछ पुरानी इमारतें, कुछ पुराने पेड़ आज भी उसी शान के साथ वहीँ खड़े दिखते हैं और याद दिलाते हैं एक अल्हड़, लापरवाह और मस्ती में डूबे हुए पंजाब की.

लुधियाना का फ़ूड टूर करना मेरे लिए ऐसा है जैसे अपने ही आँगन के अपने जाने-पहचाने हुए पेड़ों से वर्षों बाद फल तोड़ कर खाना. एक-एक पेड़ की एक एक टहनी इस हद तक देखी हुई, कि चाहो तो आँख पर पट्टी बांध कर घूम लो. बहुत दिन से प्लान बन रहा था, पर मुझे यहाँ के मौसम और खान-पान का अच्छी तरह से आनंद लेने के लिए एक विशेष समय की प्रतीक्षा थी जो नवम्बर 2019 के अंतिम सप्ताह में समाप्त हुई और हम चल दिए लुधियाना की ओर.

लुधियाना के कुछ भूले-बिसरे पुराने स्वाद ढूँढ कर आप तक पहुँचाने का प्रयास किया है जिसे आप इस पेज पर देख सकते हैं.

आपकी पसंद के लुधियाना के विशेष स्वादों की अधिक जानकारी के लिए नीचे दी गयी टाइल्स पर क्लिक करें

%d bloggers like this: