SwadList (Part106) उदयपुर का मोहन वड़ा पाव

ॐ ।।

#भारत_के_5000_स्वाद #Part_106
#Udaipur #उदयपुर
#मुम्बई_का_स्वाद_उदयपुर_में

मित्रों…….आवश्यक नहीं है कि #अच्छा_स्वाद बड़े ताम-झाम के साथ ही आता है……कई बार बिलकुल बेसिक दुकानों पर भी अदभुत स्वाद मिल जाते हैं.

इसी सिलसिले में हमारा आज का स्वाद है एक छोटी सी दुकान से जो कि दिखने में इतनी साधारण है कि आप इसके सामने से गुजरते हुए इसको नोटिस तक नहीं करते….. यह है उदयपुर के सहेली मार्ग पर स्थित मधुबन के सामने स्थित #मोहन_वड़ा_पाव और #मसाला_छाछ……..आज से 27 वर्ष पहले जब मुम्बई से बाहर अधिकतर लोगों ने वड़ा पाव का नाम भी नहीं सुना था उस समय इसका स्वाद उदयपुर के लोगों तक पहुँचाने का काम किया था मोहन सिंह चुण्डावत जी ने जिन्होंने बिलकुल बम्बईय्या स्टाइल में वड़ा पाव बना कर उसके साथ एक यूनिक जोड़ीदार के रूप में मसालेदार छाछ बनाना शुरू किया.

#भारत_का_वेनिस कहा जाने वाला उदयपुर खान-पान के मामले में बिलकुल मुम्बई का #छोटा_भाई है…..मुम्बई की ही तरह यहाँ पर स्नैक फ़ूड और तुरत-फ़ुरत खाने वाली आइटम्ज़ अधिक प्रचलित हैं……..ऐसे में यह वड़ा-पाव अपने महाराष्ट्रियन स्वाद के साथ उदयपुर वादियों के बीच में काफ़ी प्रसिद्ध है.

मात्र 10/- रुपए में वड़ा-पाव और 5/-रुपए में छाछ का स्वाद लेने वालों में मज़दूर वर्ग के लोगों से लेकर, छात्र, व्यापारी और आस-पास के स्थानीय निवासी रहते हैं…….मोहन सिंह जी और उनके पुत्र इंदर सिंह जी इस दुकान को चलाते हैं और उनका दावा है कि दाम कम रखने के लिए उन्होंने कभी भी क्वालिटी को दांव पर नहीं लगाया……इसके बजाय वे रॉ मटीरीयल इकट्ठा और सस्ता ख़रीद कर लाते हैं जिससे लागत कम आती है, बेसन और सारे मसाले भी वे स्वयं पिसाते हैं ताकि क्वालिटी और स्वाद एक सा बना रहे.

सिर्फ़ वड़ा-पाव और छाछ के साथ इतने ग्राहकों को आकर्षित करना और बिना किसी लाव लश्कर के इतने लम्बे समय तक अपनी पहचान बना कर रखना अपने आप में एक उपलब्धि है.

दुकान सुबह 7:00 बजे से शाम को 5:30 तक खुलती है.

गूगल लोकेशन: https://goo.gl/maps/7m6qvXyRmWH2KZ8p7

SwadList रेटिंग : 4 स्टार ⭐️ ⭐️ ⭐️ ⭐️

मित्रों……उदयपुर फ़ूड टूर की यह शृंखला फ़िलहाल के लिए एक विराम पर है……कुछ स्वाद अभी बाक़ी हैं जिन्हें किसी आगामी फ़ूड टूर पर कवर किया जाएगा…..आशा करता हूँ उदयपुर फ़ूड टूर आपको पसंद आया होगा……आपके फ़ीड्बैक, सुझाव, कॉमेंट्स का सदैव स्वागत है 🙏

आपका अपना …… पारुल सहगल 😊

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: