SwadList (part6) इटालियन मिठाई “कनोली”

दिल्ली के 500 स्वाद (भाग 6 )
वाइल्ड कार्ड एंट्री (सात समन्दर पार से)

नमस्कार मित्रों 🙏🏻

पिछली पोस्ट में मैंने वादा किया था की अगले हफ़्ते एक विदेशी स्वाद से आपका परिचय करवाउँगा ….. अपनी पिछली पोस्ट्स पर मिले आप लोगों के सकारात्मक एवम् उत्साहवर्धक रेस्पॉन्स ने मुझे अगले हफ़्ते तक रुकने ही नहीं दिया सो आज ही लीजिए मज़ा लीजिए “वाइल्ड कार्ड एंट्री” का.

आज जो स्वाद मैं आपके साथ शेयर करने जा रहा हूँ वह भारत की धरती से नहीं है बल्कि यूरोप के देश इटली से है और जिसका अनुभव मेरे पास वाया अमेरिका होता हुआ पहुंचा है. हालांकि मैंने अभी तक दिल्ली और आस-पास के क्षेत्रों के स्वाद ही आप तक पहुंचाए हैं लेकिन पिछले साल अपनी अमेरिका यात्रा में इसका स्वाद चखने का अवसर मिला तो सोचा कि यह अनुभव आपके साथ भी शेयर कर दूँ.

इस व्यंजन का नाम है “कैनोली” और यह एक मीठा डेजर्ट है जो कि मूल रूप से इटली के सिसली क्षेत्र में प्राचीन समय से खाया जाता है. अमेरिका में यह लगभग डेढ़ सदी पहले इटली से आने वाले प्रवासियों द्वारा लाया गया और आज यह पूरे अमेरिका में लगभग हरेक कॉफी शॉप या फ़ास्ट फ़ूड की दुकान पर मिलता है …. इसकी उपस्थिति अमेरिका में लगभग वैसी ही है जैसे हमारे देश में हर चाय कि दुकान पर मिलने वाली “मट्ठी” की.

इसका आकार और बनाने का तरीका बिलकुल अनोखा है इसको दो भागों में बनाया जाता है. पहले मैदे, चीनी, मक्खन, दालचीनी और अंडे को मिला कर आटे की तरह गूंथ कर इसको छोटी छोटी धातु की बेलन के ऊपर लपेट कर जैतून के तेल में तला जाता है. इस प्रकार खोखले पाइप जैसे इसके खोल तैयार हो जाते हैं जो कि दुकानों पर कांच के मर्तबानो में रखे जाते हैं.

दुसरे भाग के लिए इसमें भरने के लिए रिकोटा चीज़ और क्रीम की फिलिंग बनायीं जाती है. फिलिंग में तरह तरह के अलग-अलग फ्लेवर मिलाये जाते हैं जैसे कि चॉक्लेट चिप्स, फ्रूट क्रीम, संतरे का गूदा, सेब का मुरब्बा, पिप्परमिन्ट आदि.

कैनोली खाने से बिलकुल पहले इस फिलिंग को ताज़ा बना कर “कैनोली” के पाइपनुमा खोल के बीच में भर कर परोसा जाता है….. खाने में यह ऊपर से क्रिस्पी और अंदर से नरम और क्रीमी होती है.

जो जो मित्र अंग्रेजी फिल्में देखने के शौक़ीन हैं और जिन्होंने हॉलीवुड कि कालजयी फिल्म “गॉडफादर” देखी हुई है वे इस कैनोली से अच्छे से परिचित होंगे 😉

तो मित्रों… आपके फीडबैक, कमैंट्स, लाइक्स का इंतज़ार रहेगा.
हमेशा कि तरह इस बार भी आग्रह है कि पोस्ट को निस्संकोच शेयर कीजिये और अपने अपने सुझाव देते रहिये.
जल्दी ही फिर मिलेंगे एक नए स्वाद के साथ …… तब तक के लिए ….. नमस्कार🙏🏻

पारुल सहगल

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: